Hindi Romantic/Love Shayari 2016

Hindi Romantic/Love Shayari 2016

Collection of hindi shayari on life, hindi dosti shayari, hindi sad shayari,hindi love shayari,romantic hindi shayari,hindi shayari in english, funny hindi shayari, english shayari.




सुनो तुम मेरे दिल की क़िताब का वो खूबसूरत  पन्ना हो ,
. .
.
.
.
.
जिसे लाख कोशिश के बाद भी मैं बदल नहीं पाया !!
मुझे रेत से क्या लेना देना,
जहाँ तू नहीं, वो हर जगह रेगिस्तान है !!
इश्क़ गरम चाय की तरह है,और दिल पारले जी बिस्कुट,
हद से ज्यादा डूबोगे तो टूटोगे !! 
इन आँखों को जब आपका दीदार हो जाता है
भगवान कसम
हमारा हर दिन त्यौहार हो जाता है ! !
दुनिया को अक्सर वही लोग बदलकर कर चले ले जाते है
 जिन्हें दुनिया कुछ बदलने लायक नहीं सोचती !!
मेरी ख्वाइशें हज़ारों हैं
लेकिन जरूरत सिर्फ #तुम !! 
बिखरे हुए  अल्फ़ाज़ है  ठहरी हुई सी कलम
बदले हुए अंदाज़ है उसके ,या बदल गए हम !!
शिकवा करने गए थे और इबादत सी हो गयी
तुझे भुलाने की ज़िद थी मगर तेरी आदत सी हो गयी !! 
नींद से क्या शिकवा जो आती नहीं ,
कसूर तो उस चेहरे का है जो सोने नहीं देता !! 
सख्त हाथों से भी छूट जाते है हाथ ,
रिश्ते ज़ोर से नहीं तमीज से थामे जाते है !! 
लफ़्ज़ों के इतेफ़ाक़ में यूँ बदलाव करके देख ,
तू देख के ना मुस्कुरा , बस मुस्कुरा के देख !! 
लाख बंद करे मैख़ाने ज़माने वाले ,
दुनिया में कम नहीं आँखों से पिलाने वाले !! 
तमाम शराबे पी ली इस जहाँ की मगर
उसकी आँखों में झाँका तो जाना आखिर नशा भी क्या चीज़ है !!
अब ना शिक़वा न गिला न कोई मलाल रहा ,
सितम उनके भी बेमिसाल रहे , सब्र अपना भी कमाल रहा !! 
ज़िन्दगी के सफर से बस इतना सीखा है
सहारा कोई कोई ही देता है धक्का देने को हर शख्स तैयार बैठा है !! 
हम बदनसीब सही पर दिल के बुरे नही ,,,,तेरी बेवफ़ाई को भी ज़िन्दगी भर याद करेंगे !!
बेवफा कहने से पहले मेरी रग - रग का खून निचोड़ लेना ,
कतरे कतरे से वफ़ा ना मिले तो बेशक़ मुझे छोड़ देना !! 
जिसको तूफानों से उलझने की आदत हो ,
उस कश्ती को समंदर भी दुआ देता है !! 
किसी ने धूल क्या झोंकी आँखों में
अब पहले से बेहतर दिखने लगा है !! 
प्यार करके जताए ये जरूरी  नहीं , याद करके बताए ये जरूरी तो नहीं ,
रोने वाला तो दिल में भी रो लेता है ,आखों से आंसू आये ये जरूरी  नहीं !! 
फिर नहीं बसते वो दिल जो एक बार उजड़ जाते है ,
कब्रें कितनी भी सजा लो कोई ज़िंदा नहीं होता !! 
ज़ुल्म के सारे हुनर हम पर यूँ आजमाए गए ,
ज़ुल्म भी सहा हमने और ज़ालिम भी कहलाए गए !! 
जरूरी तो नहीं कि शायरी वो ही करे जो इश्क़ में हो ,
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है !! 
पुरानी  होकर  भी खास होती जा रही है ,
#मोहब्बत बेशर्म है , बेहिसाब होती जा रही है !!
#नाराजगी भी बड़ी प्यारी सी चीज़ है ,
चंद पलों में प्यार को दोगुना कर देती है ! !
पागल उसने कर दिया, एक बार देखकर,
मै कुछ भी ना कर सका लगातार देखकर !! 
इंतजार तो बस उस दिन का है,
जिस दिन तुम्हारे नाम के पिछे हमारा नाम लगेगा !! 
सुकून मिलता है यहाँ पर दिल की बात लिख कर ,
कह भी देता हूँ और किसी को तकलीफ भी नहीं होती !! 
जब जान प्यारी थी तब दुश्मन हज़ार थे ,
अब मारने का शौक है तो क़ातिल नहीं मिलते !! 
मेरी तक़दीर में जलना है तो जल जाऊंगा
तेरा वादा तो नहीं जो बदल जाऊंगा !! 

सज़ा ये कि बंज़र ज़मीन हूँ मैं
और
ज़ुल्म ये कि बारिश से इश्क़ हो गया  !!
कभी ख़ामोश बैठोगे ,कभी कुछ गुनगुनाओगे
मैं उतना ही याद आऊंगा, जितना मुझे भुलाओगे !! 
ज़रा मुस्कुराना भी सिखा दे ऐ ज़िन्दगी ,
रोना तो पैदा होते ही सिख लिया था !! 
कतरा कतरा मेरे हलक को तर करती है,
मेरी रग रग में तेरी मुहब्बत सफर करती है !! 
क्या रखा है ज़िन्दगी के इस अफ़साने में #SAN ,
कुछ गुज़री यार बनाने में,
कुछ गुज़री यार भुलाने में  !!
ना ज़ख्म भरे, ना शराब सहारा हुई,
ना वो वापस लौटा, ना मोहब्बत दोबारा हुई !!

ना अनपढ़ रहे,
ना काबिल हुए,
 ऐ ज़िन्दगी तेरे स्कूल में
,
हम तो खामखा ही दाखिल हुए !!
कल तक उड़ती थी जो मुँह तक, आज पैरों से लिपट गई
चंद बूँदे क्या बरसी बरसात की,
धूल की फ़ितरत ही बदल गई !!

मिलते नहीं हैं अपनी कहानी में हम कहीं,
ग़ायब हुएँ हैं जब से तेरी दास्ताँ से हम !!
चल आज दोस्ती का हिसाब ख़तम करदे,
तू मेरी सजाएं भेज दे, मैं तेरी दुआएं भेज दूँ !! 
सलीक़े से हवाओं में ख़ुशबू घोल सकते हैं,
अभी कुछ लोग बाक़ी हैं जो उर्दू बोल सकते हैं !! 
निकाल दिया उसने हमें अपनी ज़िन्दगी से, भीगे कागज़ की तरह
ना लिखने के काबिल छोड़ा,ना जलने के !! 
रोशनी मेरी बहुत दूर तक जाएगी,
शर्त ये है कि सलीक़े से जलाओ मुझको !! 
तेरे वादों पर कहाँ तक मेरा दिल फरेब खाए,
 कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाये !! 
ताज्जुब न कीजिएगा गर कोई दुश्मन भी आपकी खैरियत पूछ जाए,
ये वो दौर है जहाँ हर मुलाकात मे मकसद छुपे होते है !! 
मेरी दास्ताँ-ए-वफ़ा बस इतनी सी है,
उसकी खातिर उसी को छोड़ दिया !! 
मैने अपने ख्वाहिशो को दीवार में चुनवा दिया...
खामखाँ जिंदगी में ..." अनारकली "....बनके नाच रही थी !! 
किसी को अपने अमल का हिसाब क्या देते,
सवाल सारे ग़लत थे जवाब क्या देते !! 
तू बिल्कुल चाँद की तरह है, “ए सनम”
नूर भी उतना ही, गुरुर भी उतना ही, और दूर भी उतना ही !! 
मेरे लहजे में जी हुजूर न था,
इसके अलावा मेरा कोई कसूर न था,
अगर पल भर को मैं बे-जमीर हो जाता,
यकीन मानिए कब का वजीर हो जाता !!
ज़िंदगी से यही गिला है मुझे
तू बहुत देर से मिला है मुझे !!
कोई नही आयेगा मेरी जिदंगी मे तुम्हारे सिवा,
एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता !! 

अकेले सफ़र करना पड़ता हैं इस जहां में कामयाबी के लिए
.
.
.
काफिला, दोस्त और दुश्मन
अक्सर कामयाबी के बाद ही बनते हैं !! 


अजीब हो गए है आज कल के रिश्तें,
आवाज़ हम न दें तो बोलते वो भी नही !! 
गुज़र गया दिन अपनी तमाम रौनके लेकर
ज़िन्दगी ने वफ़ा की तो कल फिर सिलसिले होंगे  !! 
गिरा ना पाओगे लाख चाहकर भी मेरी शख्सियत को,
मेरा कारवां मेरे चाहने वालों से चलता हैं न की नफरत करने वालों से !!
छोटा कर के देखिए जीवन का विस्तार
आँखों भर आकाश है बाँहों भर संसार !! 
सर से चादर बदन से क़बा ले गई,
ज़िन्दगी हम फ़क़ीरों से क्या ले गई !! 
मैं ख़ामोशी तेरे मन की, तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा,
मैं एक उलझा लम्हा, तू रूठा हुआ हालात मेरा  !! 
जो जले थे हमारे लिऐ, बुझ रहे है वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें, कुछ उजालों ने धोखे दिये !! 
जी रहें हैं तेरी शर्तों के मुताबिक ऐ जिन्दगी,
एक दौर हमारी फरमाइशों का भी आयेगा !! 
इश्क़ इन्तज़ार है ,मुलाक़ात भी है
हर साँस पूछती है ख़ुदा से
सच सच बता क्या तू मेरे साथ भी है !! 
कुछ कहानियाँ अक्सर अधूरी रह जाती है,
कभी पन्ने कम प़ड़ जाते है तो कभी स्याही सूख जाती है !! 
दिल टूटने से थोड़ी सी तकलीफ़ तो हुई
लेकिन तमाम उम्र को आराम हो गया !! 
मैंने पूछा उनसे,
भुला दिया मुझको कैसे,
 चुटकियाँ बजा के वो बोली
 ऐसे, ऐसे, ऐसे !! 
जब कोई दिल दुखाये तो बेहतर है चुप रहना चाहिये
क्योंकि जिंन्हें हम जवाब नहीं देते उन्हें वक़्त जवाब देता है !!  
मत खोल मेरी किस्मत की क़िताब को,
हर उस सख़्श ने दिल दुखाया जिस पर नाज़ था !!


फिर कोई दुःख मिलेगा तैयार रह,.ऐ दिल,
कुछ लोग पेश आ रहे हैं बहुत प्यार से !!


जिसको आज मुझमें हज़ारों गलतियां नज़र आती है,
कभी उसी ने कहा था “तुम” जैसे भी हो…मेरे हो !!


वो फिर से लौट आये थे मेरी जिंदगी में’ “अपने मतलब” के लिये,
और हम सोचते रहे की हमारी दुआ में दम था !!


तेरी बेरुखी ने छीन ली है शरारतें मेरी,
और लोग समझते हैं कि मैं सुधर गयी हूँ !!

जान दे देंगे ये हमारे बस मे है,
हम नही करते बात सितारे तोड़ लाने की !!

पैसे तो ज़िंदगी भर कमा लेंगे
अभी तो दिल जितने की उम्र है हमारी !!


सुकुन मिलता है दो लफ्ज कागज पे उतार कर,
चीख भी लेता हू… ओर आवाज भी नही होती !!


जिंदगी में कुछ ऐसे लोग भी मिलते हैं,
जिन्हें हम पा नही सकते सिर्फ चाह सकते हैं !! 

Tags :-hindi shayari on life, hindi dosti shayarihindi sad shayari,hindi love shayari,romantic hindi shayari,hindi shayari in english, funny hindi shayari, english shayari.


Previous
Next Post »

1 comments:

Write comments
Zafru Diin
AUTHOR
May 16, 2017 at 9:14 AM delete

Kya Khoob Rajputo Ki Kahani

Reply
avatar